राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने दर्ज किया प्रकरण जांच शुरु, मंडला में तीन पत्रकारों की मौत का मामला - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे औरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें....भारत के समस्‍त प्रदेशों में स्‍टेट ब्‍यूरों, संभाग ब्‍यूरों , जिला ब्‍यूरों, तहसील ब्‍यूरों और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने दर्ज किया प्रकरण जांच शुरु, मंडला में तीन पत्रकारों की मौत का मामला


मंडला से नीरज अग्रवाल की रिपोर्ट -

मध्यप्रदेश के मंडला जिले में तीन पत्रकारों की मौत के मामला राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने विधिवत केस दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है डिंडोरी निवासी युवा अधिवक्ता सम्यक जैन धीरज तिवारी व मनन अग्रवाल ने बताया कि तीनों पत्रकारों की मृत्यु स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण हुई जिला चिकित्सालय मंडला का रवैया लापरवाही पूर्ण था दोषियों के खिलाफ समुचित कार्रवाई होनी चाहिए आलम यह है कि जबलपुर से सटे मंडला जैसे पिछड़े इलाके में कई कोरोना संक्रमित मरीज समय पर समुचित इलाज के अभाव में दम तोड़ चुके हैं इसके बावजूद जिम्मेदार अमले सजक नहीं हुए व्यवस्थाएं दुरुस्त करने की दिशा में गंभीरता नहीं बरती गई उन्होंने बताया कि आईएसओ सर्टिफाइड अस्पताल की व्यवस्था चरमराई हुई है सवाल उठता है कि जब मुख्यालय का यह हाल है तो छोटे कब्जों की हालत क्या होगी चिकित्सा स्टाफ व संसाधनों का अभाव चिंताजनक है मध्यप्रदेश शासन व मंडला जिला प्रशासन की लापरवाही से पत्रकारों की मौत के मामले में ठोस कार्यवाही की जाए दोषियों के खिलाफ हत्या का प्रकरण चलाने के अलावा पीड़ित परिवारों के जीवन निर्वाह के लिए 50 50 लाख की सहायता राशि मुहैया कराई जाए ट्राइबल इलाकों के सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों में समुचित व्यवस्था व संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश जारी हो फील्ड में काम करने वाले पत्रकारों को अधिमान्यता का दर्जा दिया जाए वह रोज फील्ड में रहकर अपनी जान जोखिम में डालकर कार्य कर रहे हैं