पुलिस खंगाल रही मोखा की आपराधिक कुंडली - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे औरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें....भारत के समस्‍त प्रदेशों में स्‍टेट ब्‍यूरों, संभाग ब्‍यूरों , जिला ब्‍यूरों, तहसील ब्‍यूरों और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

पुलिस खंगाल रही मोखा की आपराधिक कुंडली

जबलपुर से संतोष जैन की रिपोर्ट -

पुलिस खंगाल रही मोखा की आपराधिक कुंडली डकैती का भी प्रकरण था पंजीबद्ध
गोरखपुर थाने में 2004 में दर्ज हुआ था मामला
इधर जिला अदालत में वकील करते रहे इंतजार
नेपियर टाउन में की थी वारदात
अपराध के षड्यंत्र में माहिर है मौखा और भी अपराधों का लगाया जा रहा है पता
एनएसए मोखा को भेजा जेल खपाए थे 465 नकली रेमदेसीविर
जबलपुर पहुंची गुजरात पुलिस और एसटीएफ की एडीजी महेश्वरी पूछताछ में कई खुलासे
500 इंजेक्शन की खेप लेकर जबलपुर पहुंचा था सपन 35 नकली रेमदेसीविर तिलवारा के पुराने पुल से नर्मदा में फेंकने की बात कही 15लाख रुपए मोखा ने सपन से सुनील मिश्रा को दिलवाए नकली इंजेक्शन बेचने वालों पर चलेगा हत्या का मुकदमा शहडोल नेता को दिए 3 इंजेक्शन

गुजरात के सूरत से नकली डेसीशिविर लाने और उसे खपाने के मामले का मुख्य आरोपी सिटी अस्पताल का संचालक सरबजीत सिंह मौका के खिलाफ डकैती का प्रकरण भी दर्ज है पुलिस के अनुसार वर्ष 2004 में हथियारों से लैस मौका और उसके साथियों ने नेपियर टाउन में हथियारबंद हमला किया था इस मामले में गोरखपुर पुलिस ने मोखा और उसके साथियों पर भारतीय दंड विधान की धारा 395 397 120बी आर्म्स एक्ट की धारा 25 व 27 के तहत प्रकरण दर्ज किया था इसका खुलासा तब हुआ जब पुलिस ने मौका का आपराधिक रिकार्ड खंगाला

इधर जिला अस्पताल में बकील करते रहे इंतजार 

नकली रेमदेसीविर मामले में पकड़े गए सिटी हॉस्पिटल के संचालक सरबजीत सिंह मोखा को पुलिस ने जिला अदालत में पेश ही नही किया के खिलाफ वारंट तामील कराते हुए उसे जेल दाखिल कर दिया गया जिला अस्पताल में मौखा की ओर से संभावित जमानत अर्जी का विरोध करने के लिए अधिवक्ता रविंद्र गुप्ता रविंद्र दत्त रुपेश पटेल विपुल वर्धन जैन सहित करीब 25 से अधिक वकील उपस्थित थे यह मोखा को अदालत ले जाने का इंतजार ही करते रहे उधर अपर सत्र न्यायाधीश मुकेश कुमार दांगी की कोर्ट ने गिरफ्तार होने के चलते उसकी अग्रिम जमानत की अर्जी खारिज कर दी
नकली रेमदेसीविर इंजेक्शन मामले का मुख्य आरोपी सिटी अस्पताल सरबजीत सिंह मोखा के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत वारंट तामिली कराते हुए उसे जेल भेज दिया गया वह अगले तीन माह तक जेल में रहेगा पहले से जेल में बंद अस्पताल का फार्मासिस्ट देवेश चौरसिया के खिलाफ भी रासुका का वारंट तामील कराया गया है उधर गुजरात पुलिस बुधवार सुबह नकली इंजेक्शन सप्लायर भगवती फार्मा के मालिक सपन जैन और रीवा निवासी सुनील मिश्रा को लेकर जबलपुर पहुंची यहां एसआईटी ने सफल और सुनील से घंटों पूछताछ की नकली इंजेक्शन बेचने वालों पर चलेगा हत्या का मुकदमा प्रदेश में नकली रेमदेसीविर बेचने वालों पर हत्या का मुकदमा चलेगा बुधवार को आला पुलिस अफसरों ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को अब तक की कार्रवाई की रिपोर्ट डीएम ने कहा पूरी आशंका है कि जानबूझकर नकली इंजेक्शन बनाए गए मरीजों को असली इंजेक्शन नहीं लगा यदि असली इंजेक्शन लगता तो हो सकता कि वह बच जाता लेकिन नकली इंजेक्शन के कारण नहीं बचा इसलिए यह मामला गंभीर है और हत्या का मामला बनता है

शहडोल नेता को दिए 3 इंजेक्शन

रेमदेसीविर का मेडिकल कॉलेज से कनेक्शन उजागर होने के बाद अफसरों का गठजोड़ सामने आ रहा है एक व्यापारी से की गई पूछताछ में 3 रेमदेसीविर का रिकॉर्ड नहीं मिला था बाद में सामने आया कि एक जनप्रतिनिधि के साथी को 3 इंजेक्शन दिए गए