अस्पतालों में किसे लगेगा रेमडेसीविर इंजेक्शन यह डॉक्टर नहीं विधायक कर रहे - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें.....प्रदेश, संभाग, जिला, तहसील और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

अस्पतालों में किसे लगेगा रेमडेसीविर इंजेक्शन यह डॉक्टर नहीं विधायक कर रहे



इंदौर से संतोष जैन की रिपोर्ट - 

अस्पतालों में किसे लगेगा रेमडेसीविर इंजेक्शन यह डॉक्टर नहीं विधायक कर रहे  तय

 जनप्रतिनिधियों के यहां से बट रहे इंजेक्शन

 इंजेक्शन ब्लैक करने वाला आरोपी बोला विधायक के घर लाइन में लगा कर किया हासिल

 रेबडी बना रेमडेसीविर का इंजेक्शन

  सियासत और प्रशासन के गठजोड़ की खुल रही परतें

 कंपनियों से सप्लाई मैं भी घाल मेल

 निजी अस्पतालों पर भी बना रहे दबाव

सरकारी अस्पतालों में आंकड़े नदारद 


कोरोना से बचाने वाला रेमडेसीविर इंजेक्शन  किसे लगेगा यह डॉक्टर नहीं विधायक तय कर रहे हैं कई जनप्रतिनिधि इंजेक्शन किस इंजेक्शन को बांट रहे हैं एक आरोपी ने पुलिस पूछताछ में इसका खुलासा भी किया है उसने बताया कि इंजेक्शन उसने एक विधायक के यहां से लाइन में लगा कर लिया था फिर उसे 30 30 हजार में ब्लैक में बेच दिया इससे इतना तो साफ है कि रेमडेसीविर जनप्रतिनिधियों के यहां पहुंच भी रहे हैं और वहां से बांटे भी जा रहे हैं अब गठजोड़ की परतें खुलने लगी है विजय नगर पुलिस ने इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले छह आरोपियों को गिरफ्तार किया था उसमें से एक निर्मल शाक्य ने कबूला कि वह जरूरतमंदों के दस्तावेज लेकर विधायक के यहां जाता था और वहां से इंजेक्शन  लेता था 

निजी अस्पतालों पर भी बना रहे दबाव 

सूत्रों के मुताबिक सीयासी रसूखदार निजी अस्पतालों में भर्ती नजदीकी लोगों को इंजेक्शन लगाने के लिए भी डॉक्टरों को और अस्पताल संचालकों पर दबाव बना रहे हैं 

बड़ा सवाल 

दवाओं की बिक्री के लिए लाइसेंस जरूरी है इसके बिना  बिक्री या वितरण नहीं हो सकता ऐसे में यदि पुलिस गिरफ्त में आए आरोपी सही बोल रहे हैं तो विधायक ने गैरकानूनी  कृत्य किया है