सीएम की नाक कटवाने पर तुले एसडीएम ने नीचताई की सारी सीमा पार की - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे औरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें....भारत के समस्‍त प्रदेशों में स्‍टेट ब्‍यूरों, संभाग ब्‍यूरों , जिला ब्‍यूरों, तहसील ब्‍यूरों और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

सीएम की नाक कटवाने पर तुले एसडीएम ने नीचताई की सारी सीमा पार की




कोरोना काल में जहां कुछ प्रशासनिक अधिकारी मरीजों के उपचार और उनकी देखभाल के लिए उचित व्यवस्थाएं नहीं कर पा रहे हैं वही अपनी अकर्मण्यता पर पर्दा डालने के लिए बौखलाहट में सीनियर सिटीजन और महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार भी कर रहे हैं । इनके अभद्र व्यवहार से नीचता की सारी सीमाएं पार हो रही हैं

नरसिंहपुर. कोरोना काल में जहां कुछ प्रशासनिक अधिकारी मरीजों के उपचार और उनकी देखभाल के लिए उचित व्यवस्थाएं नहीं कर पा रहे हैं वही अपनी अकर्मण्यता पर पर्दा डालने के लिए बौखलाहट में सीनियर सिटीजन और महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार भी कर रहे हैं । इनके अभद्र व्यवहार से नीचता की सारी सीमाएं पार हो रही हैं नरसिंहपुर जिले के एक एसडीएम ने मंगलवार रात एक सीनियर सिटीजन और महिलाओं के साथ सरेआम गाली गलौज किया । जिसने भी यह मंजर देखा उसके मुंह से यही निकल पड़ा कि यह इंसान है या हैवान। जानकारी के मुताबिक एक जैन परिवार का घर और उसकी दुकान एक साथ है, घर व दुकान में जाने का रास्ता एक ही है और उसमे एक शटर लगा हुआ है। रात में उसकी बेटी बहुत जरूरत होने पर दवाएं लेने के लिए घर से बाहर निकली। घर का आधा शटर खोला और दवा बाहर लेने के लिए निकली। इसी बीच एसडीएम और पुलिस बल वहां पहुंच गया मामले की वस्तुस्थिति को समझे बिना एसडीएम ने आग बबूला होकर गालियां देना शुरू कर दीं । इस बीच जैन परिवार उन्हें यह बताने की कोशिश करता रहा कि यह उनका घर है और दुकान भी है और बेटी दवा लेने के लिए बाहर निकली है । लेकिन अपने पद के घमंड में चूर एसडीएम ने उनकी एक बात नहीं सुनी और लगातार गालियां देते रहे । एसडीएम के इस कृत्य से पूरे मध्यप्रदेश की राज्य प्रशासनिक सेवा की छवि कलंकित हुई है । जिस तरह से एसडीएम ने सीनियर सिटीजन और महिला को अपमानित किया है उससे तो मुख्यमंत्री के प्रशासन पर ही प्रश्नचिह्न लग रहा है । ऐसे ही अधिकारी मुख्यमंत्री को बदनाम करने पर तुले हुए हैं और उनकी छवि खराब कर रहे हैं । इस घटना के बाद लोगों में भारी आक्रोश है और लोगों ने यहां तक कहा कि ऐसा निकृष्ट एसडीएम नरसिंहपुर जिले में पहले कभी नहीं देखा गया। लोगों का यह भी कहना है कि तत्काल इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई तो मामला विस्फोटक हो जाएगा जिसका जिम्मेदार प्रशासन होगा। गौरतलब है कि इससे पहले भी एसडीएम पर यह आरोप लगा था कि उन्होंने एक राय परिवार के युवा को प्रताडि़त कर धमकाया था। यह मामला बाद में ठंडा पड़ गया पर अब उनके इस नए कृत्य से लोग यह कहने लगे हैं कि लोगों को अपमानित करना और जलील करना उनके स्वभाव और कार्यशैली में है। इस पूरे मामले को लेकर एसडीएम का कहना है कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया और सब झूठ है।