रेमेडेसिविर की कालाबाजारी का संदेह शीला मेडिकोज पर छापा - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे औरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें....भारत के समस्‍त प्रदेशों में स्‍टेट ब्‍यूरों, संभाग ब्‍यूरों , जिला ब्‍यूरों, तहसील ब्‍यूरों और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है


रेमेडेसिविर की कालाबाजारी का संदेह शीला मेडिकोज पर छापा



जबलपुर से इंद्रजीत कोष्टा और अजय पारे की रिपोर्ट -

रेमेडेसिविर की कालाबाजारी का संदेह शीला मेडिकोज पर छापा

इंजेक्शन खरीदी बिक्री संबंधी दस्तावेज मांगे कई दिनों से दूसरे शहरों में भेजे जा रहे थे डोज

कोरोना संक्रमित की हर जांच के लिए वेटिंग विक्टोरिया मेडिकल में कतार

अव्यवस्थाओं का आलम टूट रही सोशल डिस्टेंसिंग संक्रमण के खतरे की अन देखी

इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों पर करो कार्रवाई जिले के प्रभारी मंत्री भदौरिया का निर्देश

सदर में भी बनाया जाए डे कोविड-19 केयर केंद्र विधायक रोहाणी ने भेजा कलेक्टर को पत्र

मेडिकल माफिया की हो जांच

इधर उधर फेंके जा रहे पीपीई किट

भर्ती होने के लिए करना पड़ रहा इंतजार

बैड की कमी मरीजों को नए सैंटरो में भेजा


एक और शहर में रेमदेसीविर इंजेक्शन को लेकर हाहाकार मचा है दूसरी ओर शास्त्री ब्रिज स्थित शीला मेडिकोज से प्रशासन की जानकारी के बिना रेमदेसीविर इंजेक्शन बड़े पैमाने पर दूसरे शहरों में भेजे जा रहे थे शिकायत के बाद मंगलवार शाम प्रशासन व ड्रग विभाग की टीम ने यहां छापे की कार्रवाई की


कोरोना संक्रमित की हर जांच के लिए वेटिंग विक्टोरिया मेडिकल में कतार


कोरोना संक्रमण से सरकारी अस्पतालों की हालत खराब हो गई है यहां आने वाले मरीजों को हर जांच में लंबी वेटिंग देनी पड़ रही है वहां टेस्ट भर्ती होने और यहां तक कि कोरोना से मृत हुए व्यक्ति का शव लेने भारी जद्दोजहद करनी पड़ रही है मंगलवार को दोनों अस्पतालों की हालत यह थी कि शहर में विकराल रूप ले चुके कोरोना संक्रमण के बाद भी लोगों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग नहीं थी

इधर उधर फेंके जा रहे पीपीई किट

एक तरफ कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर आम व्यक्ति से लेकर जिला प्रशासन पुलिस प्रशासन कवायद में लगा हुआ है वहीं कुछ स्वास्थ्य कार्यकर्ता बड़ी लापरवाही बरत रहे हैं


सदर में भी बनाया जाए डे कोविड-19 केयर केंद्र


विधायक रोहाणी ने भेजा कलेक्टर को पत्र



मेडिकल माफिया की हो जांच

कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं मेडिकल माफिया ने सिंडीकेट बना लिया है मेडिकल माफिया सिंडीकेट के दबाव मे प्रशासन ने व्हीकल फैक्ट्री जीसीएफ रेलवे के अस्पताल को पूरी क्षमता के अनुसार नहीं लिया है


भर्ती होने के लिए करना पड़ रहा इंतजार

संभाग के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोविड-19 की भर्ती तो की जा रही है लेकिन यहां भर्ती के लिए लोगों को अपना नंबर आने का इंतजार करना पड़ रहा है

बेड की कमी मरीजों को नए सेंट्रो में भेजा

विक्टोरिया जिला अस्पताल में कोविड-19 आने वाले लोगों को नए बनाए गए कोविड-19 में भेजा जा रहा है

इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों पर करो कारवाही जिले के प्रभारी मंत्री भदोरिया का निर्देश