पाली एसडीओपी के मार्गदर्शन में बैठक संपन्न सूदखोरों के खिलाफ चलेगा "ऑपरेशन शिकंजा" - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें.....प्रदेश, संभाग, जिला, तहसील और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

पाली एसडीओपी के मार्गदर्शन में बैठक संपन्न सूदखोरों के खिलाफ चलेगा "ऑपरेशन शिकंजा"



उमरिया से नीरज यादव की रिपोर्ट - 




उमरिया : कोयलांचल क्षेत्र में सूदखोरी का अवैध कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए उमरिया पुलिस अधीक्षक विकास कुमार सहवाल के मार्गदर्शन में जिले में "ऑपरेशन शिकंजा" जैसी प्रभावी मुहिम का आगाज आज उमरिया जिले के नौरोजाबाद नगर के कालरी रेस्ट हाउस में दोपहर 2 बजे बैठक से हुआ। एसडीओपी पाली डॉ जितेंद्र सिंह जाट के मार्गदर्शन में आज एसईसीएल कालरी प्रबंधन और बैंक के अधिकारियों की बैठक संपन्न हुई बैठक में एसडीओपी पाली और नौरोजाबाद टीआई डॉ ज्ञानेंद्र सिंह गहरवार ने कालरी प्रबंधन के साथ बैठकर सूदखोरों के खिलाफ कार्यवाही करने की रणनीति बनाई गई।







गौरतलब है कि कालरी क्षेत्र नौरोजाबाद, विंध्या,पाली और चपहा जैसे क्षेत्र में रहने वाले कालरी के कमर्चारी सूदखोरों के मकड़जाल में फसे हुए है उमरिया पुलिस ने हाल ही में सूदखोरों के खिलाफ बड़ी कार्यवाहियों को अंजाम दिया था लेकिन अब प्रदेश सरकार की मंशानुरूप जिले से सूदखोरी की समस्या को जड़ से समाप्त करने का उमरिया पुलिस मन बना चुकी है और अब "ऑपरेशन शिकंजा" के माध्यम से ऐसे सूदखोरी के अवैध कारोबार को नेस्तानाबूद पुलिस करेगी।




पीड़ितों को आना होगा सामने :

एसडीओपी पाली डॉ जितेंद्र सिंह जाट ने क्षेत्रवासियों से अपील की है कि यदि कोई किसी भी सूदखोर के मकड़जाल में फंसा हुआ है तो सीधे थाना पहुँचकर शिकायत करें बिना किसी राजनीतिक दवाव के निष्पक्ष कार्यवाही की जाएगी और पीड़ितों को न्याय दिलाया जाएगा।










अंकुश न लगने से हौसले बुलंद :

बता दें कि सूदखोरों के जाल में सबसे अधिक कालरी कामगार फंसे हुए हैं। भयवश दंबग सूदखोरों के खिलाफ यह लोग शिकायत नही कर पाते जिस कारण सूदखोर चांदी काट रहे है। सूदखोर कालरी कर्मचारियों के बैंक पासबुक, एटीएम कार्ड एवं विड्रावल फार्म में हस्ताक्षर कराकर रख लेते हैं साथ ही चेकबुक भी साथ में रखते हैं और बैंक वालो से पेमेन्ट आने की जानकारी लगा लेते हैं जिसके बाद थोक के थोक पासबुक बैंक भेजकर राशि आहरित करा लेते हैं और कालरी श्रमिको का वेतन उठाकर उन्हे अंशतः राशि देकर शेष राशि ब्याज का काटकर रख लेते हैं।




एसडीओपी डॉ जितेन्द्र सिंह जाट ने कहा कि किसान एवं कालरी कर्मचारी सूदखोरों के चंगुल में ना फंसे, पूरे अनुभाग में सूदखोरों की कुंडली बनाई जा रही है। सूदखोरी के खिलाफ

"ऑपरेशन शिकंजा" अभियान चलाकर अवैध कारोबार पर रोक लगाई जाएगी।




ये रहे उपस्थित : उक्त बैठक में ए के श्रीवास्तव एपीएम जोहिला क्षेत्र, संभ्रांत पांडे डिप्टी मैनेजर पर्सनल जोहिला क्षेत्र, आशा रैदास डिप्टी मैनेजर पर्सनल विंध्या,विनोद शुक्ला डिप्टी मैनेजर पर्सनल पिनौरा,सीएस जोसिया असिस्टेंट मैनेजर पर्सनल पाली,टी भोंडे डिप्टी मैनेजर पर्सनल उमरिया, शरद टोडों सर्विस मैनेजर एसबीआई नौरोजाबाद, आनंद सिंह ब्रांच मैनेजर ग्रामीण बैंक सहित मीडिया कर्मी मौजूद रहे।