लॉकडाउन की आड़ में अर्जुन गांव से फिर शुरू हुआ धनलक्ष्मी के अवैध रेत का गोरखधंधा - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे औरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें....भारत के समस्‍त प्रदेशों में स्‍टेट ब्‍यूरों, संभाग ब्‍यूरों , जिला ब्‍यूरों, तहसील ब्‍यूरों और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

लॉकडाउन की आड़ में अर्जुन गांव से फिर शुरू हुआ धनलक्ष्मी के अवैध रेत का गोरखधंधा




नरसिंहपुर से अमित दीक्षित व अमित वर्मा की रिपोर्ट

कोरोना काल बना सफेद सोने के कारोबारियों के लिए गोल्डन टाइम

वैंसे तो मध्यप्रदेश अवैध मामलों में अव्वल है लेकिन नरसिंहपुर जिले की गाडरवारा के सालीचौका क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली अर्जुनगांव दुधी नदी वो सफेद सोने की खदान कहलाती है । जिसे लूटने मध्यप्रदेश के बाहरी राज्यो तक से कंपनियां इन दिनों मैदान में कूद पड़ी है। और क्यो ना कूदें खेल भी तो सफेद सोने का है अब जिला प्रशासन से याराना करने के बाद भले की धनलक्ष्मी की रायल्टी के रेट कोई ना देखे मगर फर्क तो पड़ता है जनाब क्योंकि 3 से 4 हजार की रेत खरीदना हर किसी के बस की बात नही । अब इसे जिलेवासियों की मजबूरी कहें या जिले के अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों का याराना क्योंकि इस कम्पनी के खिलाफ कोई खड़ा होने की हिम्मत नही करता । कुछ साहसी मित्रो द्वारा इस गोरखधंधे के खिलाफ NGT में याचिका दायर भी की गई है और NGT के आदेश के बाद अधिकारी इस खदान का निरीक्षण भी कर चुके है । लेकिन मजाल की उन अधिकारियों के आने के बाद भी अवैध उत्खनन रुक जावे । वही जिला प्रशासन से जिलेवासियों को अब कोई आशा नही रही है क्योंकि नरसिंहपुर का खनिज विभाग ही भूमिगत हो गया है जिसके कारण गरीबो को अपने आशियाने बरसात से पूर्व बनाने के लिए मजबूरन मंहगी रायल्टी देकर एव मंहगी रेत खरीदनी पड़ रही है । अब कोरोनाकाल एवं लॉकडॉन के कारण पूरा जिला प्रशासन कोरोना संबंधी व्यवस्थाओं में व्यस्त है इसी का फायदा उठाकर रेतासुर पुनः सक्रिय हो चले है । जो अब रुकने का नाम तक नही ले रहे । व अवैध रेत उत्खनन बदस्तूर जारी है ।