बढ़ती मंहगाई के विरोध में जबलपुर बंद का आंशिक असर, कांग्रेस नेताओं ने बंद कराई दुकानें - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें.....प्रदेश, संभाग, जिला, तहसील और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

बढ़ती मंहगाई के विरोध में जबलपुर बंद का आंशिक असर, कांग्रेस नेताओं ने बंद कराई दुकानें




संतोष जैन जबलपुर. मध्यप्रदेश के जबलपुर में भी आज बढ़ती मंहगाई के विरोध में बंद का मिलाजुला असर देखने को मिला, शहर की दुकानों को बंद कराने निकले कांग्रेस नेता जब रांझी पहुंचे और दुकानें बंद कराई तो विवाद की स्थिति निर्मित हो गई, कुछ दुकानदारों ने बंद का विरोध करते हुए दुकानें खोल ली, हालांकि मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को अलग अलग किया.

बताया जाता है कि जबलपुर में कांग्रेस के आधे दिन के बंद का जबलपुर में मिलाजुआ असर ही देखने को मिला, मुख्य बाजार में दोपहर तक दुकानों की आधी शटर खुली रही, जिसके सहारे दुकानदार ग्राहकों को अंदर बुलाते रहे, पेट्रोल पंप ही बंद रहे, करीब 11 बजे के लगभग कांग्रेसजन नारेबाजी करते हुए निकले, उस वक्त जरुर लोगों ने अपनी शटर गिरा ली, इसके बाद फिर आधी शटर खोल ली गई. इस दौरान कांग्रेस नेता नारेबाजी करते हुए जब रांझी क्षेत्र का बाजार बंद कराने पहुंचे तो एक कपड़ा व्यापारी योगेश भाटिया ने दुकान बंद करने से इंकार कर दिया, जिससे विवाद की स्थिति निर्मित हो गई, देखते ही देखते अन्य व्यापारी भी एकत्र हो गए, जिन्होने बंद का विरोध शुरु कर दिया, दोनों पक्षों के आमने सामने होने की खबर मिलते ही पुलिस अधिकारी भी तत्काल मौके पर पहुंच गए थे, जिन्होने दोनों पक्षों को अलग अलग कराया.  दोपहर दो बजे के बाद सिविक सेंटर में आमसभा का आयोजन किया गया, जिसमें कांग्रेस नेताओं ने केन्द्र सरकार की नीतियों का जमकर विरोध किया. अधिकतर स्थानों पर देखने को मिला कि नेताओं के पहुंचने पर दुकानदार शटर गिरा रहे थे, जैसे ही वे आगे निकले तो दुकाने खोल ली गई. हालांकि शहर के कांग्रेस के बंद के आव्हान को देखते हुए पुलिस बल तैनात किया गया था, जो लगातर भ्रमण करता रहा.

ग्रामीण क्षेत्रों में सामान्य रहा कारोबार-

जबलपुर के ग्रामीण क्षेत्र बरगी, पाटन, बेलखेड़ा, चरगवां, कटंगी, सिहोरा, कुण्डम, बरेला, भेड़ाघाट, पनागर, गोसलपुर में भी बंद का कुछ खास असर देखने को नहीं मिला है, सामान्य दिनों की तरह बाजार खुले रहे. लोगों की आवाजाही रही, हालांकि ग्रामीण कांग्रेस के नेताओं का कहना था कि मंहगाई के विरोध में लोगों ने स्वयं ही दुकानें बंद की है.