गैस एजेंसी संचालक के बेटे की अपहरण की काेशिश:छत से मां ने शोर मचाया तो भागे - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें.....प्रदेश, संभाग, जिला, तहसील और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

गैस एजेंसी संचालक के बेटे की अपहरण की काेशिश:छत से मां ने शोर मचाया तो भागे



 संतोष जैन जबलपुर -संजीवनी नगर में गैस एजेंसी संचालक के बेटे के अपहरण की कोशिश की गई। 17 वर्षीय किशोर की सूझबूझ और मां के शोर मचाने के चलते पांच अपहरणकर्ता अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाए। आरोपी किशोर के घर उसकी सेकेंड हैंड चार पहिया वाहन खरीदने के बहाने पहुंचे थे।

किशोर आरोपियों को बाहर तक छोड़ने गया। उसी दौरान आरोपियों ने उसे अगवा करने की कोशिश की, लेकिन छत पर मौजूद उसकी मां और एक होमगार्ड सैनिक के शोर मचाने पर उन्हें भागना पड़ा।

जसूजा सिटी सामुदायिक भवन के पास संदीप कुसरे का घर है। कुसरे की कांचघर में इंडेन कंपनी की गैस एजेंसी है। इस संदीप गैस एजेंसी को वे समीक्षा टाउन से संचालित करते हैं। उनका 17 वर्षीय बेटा सुजल कुसरे 11वीं में पढ़ता है। सोमवार दोपहर 2.30 बजे सुजल और उसकी मां घर पर थे। तभी एक बिना नंबर की सफेद कार से पांच लोग पहुंचे। बोले कि संदीप कुसरे से बात हुई है, बिक रही गाड़ी दिखा दो। सुजल ने आरोपियों को गाड़ी दिखाई और फिर उन्हें बाहर तक छोड़ने भी गया।

तीन आरोपी गाड़ी देखने आए, दो वाहन में ही बैठे थे
सुजल के मुताबिक आरोपियों ने उसे गाड़ी में बैठकर बिकने वाली अपनी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर लिखने को कहा। इस पर उसने मना कर दिया और बाहर ही खड़े होकर रजिस्ट्रेशन नंबर लिखने लगा। तभी गाड़ी से उतरे दो आरोपी उसे धक्का देकर वाहन में बिठाने लगे। उसने शोर मचाया। छत पर उसकी मां भी खड़ी होकर देख रही थी। उसने भी शोर मचाया। संयोग से उसी दौरान होमगार्ड में काम करने वाले पांडेय सरनेम के अंकर भी पहुंच गए। इसके चलते आरोपियों को भागना पड़ा।

25 से 30 की उम्र थी आरोपियों की
सुजल के मुताबिक आरोपियों की 25 से 30 की उम्र थी। तीन को देखकर वह पहचान जाएगा। सुजल की शिकायत पर संजीवनी नगर पुलिस ने मामले में 363, 511 भादवि का प्रकरण दर्ज कर जांच में जुटी है। पुलिस सूत्रों की मानें तो पुलिस मामले में आरोपियों तक पहुंच चुकी है। पूछताछ में चौंकाने वाली बात सामने आई है। आरोपी सुजल का अपहरण करने पहुंचे थे। उनकी मंशा अपहरण के बाद उसके पिता से 50 लाख की फिरौती वसूलने की थी। पुलिस आज इस मामले का खुलासा कर सकती है।                                                                                                                              अक्टूबर में अपहरण के बाद बच्चे की हुई थी हत्या

संजीवनी नगर क्षेत्र के धनवंतरी नगर एलआईजी निवासी मुकेश लाम्बा किे इकलौते बेटे आदित्य (13) की अक्टूबर 2020 में अपहरण हुआ था। आरोपियों ने फिरौती की रकम वसूलने के बावजूद आदित्य की हत्या कर शव को नहर में फेंक दिया था। अब एक बार फिर इसी क्षेत्र में अपहरणकर्ताओं के इस दुस्साहस से लोग सहमे हुए हैं।