कोरोना् काल में आयुष विभाग ने इतिहास रच मानवता की मिसाल पेश की - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें.....प्रदेश, संभाग, जिला, तहसील और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

कोरोना् काल में आयुष विभाग ने इतिहास रच मानवता की मिसाल पेश की


भोपाल से (संतोष जैन) -  कोरोना काल में मानवता की मिसाल पेश करने में सबसे अधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई माननीय पूर्व आयुष मंत्री विजयलक्ष्मी साधो  वर्तमान आयुष मंत्री रामकिशोर कावरे आयुक्त संचानालय एनके अग्रवाल संजीव झा वर्तमान आयुक्त  श्री प्रतीक हजेला डॉक्टर पी सी शर्मा  ड्रग कंट्रोलर   एवं  सहायक संचालक डॉ राजीव मिश्रा स्टेट नोडल ऑफिसर समस्त संभागीय आयुष अधिकारी समस्त जिलाआयुष अधिकारी समस्त चिकित्सालय के स्वास्थ्य कर्मचारी व आयुष के कर्मचारियों ने दिन-रात मेहनत कर त्रिकूट काढे का वितरण घर-घर जाकर इनके मार्गदर्शन में किया


   त्रिकूट काढे का वितरण कर कोरोना काल में कोरोनावायरस से जूझ रहे प्रदेश के निवासियों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया लेकिन मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने इन्हें  दूध में गिरी मक्खी तरह निकाल दिया गया जबलपुर नहीं भारत की जानी-मानी संस्था ऋषि राघवेंद्र मानव कल्याण शिक्षा समिती ने मानवता की मिसाल पेश करने वाले मध्य प्रदेश के कई वरिष्ठ आयुष अधिकारियों संभागीय अधिकारियो जैसे डॉक्टर पी सी शर्मा डॉक्टर राजीव मिश्रा डा गंगाधर द्विवेदी डॉ बिंदु धुर्वे सहित मध्य प्रदेश के कई आयुष अधिकारियों तथा कर्मचारियों का कोरोना वीर योद्धा से सम्मान कर सम्मानित किया गया ऋषि राघवेंद्र मानव कल्याण शिक्षा समिति देश में समाज और जन कल्याण कार्यों के लिए जानी जाती है संस्था का मूल उद्देश्य समाज और देश हित में कार्य करना है ऋृषि राघवेंद्र मानव कल्याण शिक्षा समिति पर्यावरण संरक्षण भूण हत्या  जल संरक्षण दहेज प्रथा तथा आयुष जैसे स्वर्ण प्राशन शिविर तथा आयुर्वेद को बढ़ावा देने के लिए जानी जाती है ऋषि राघवेंद्र मानव कल्याण शिक्षा समिति ने  कोरोना काल में जन सेवा का कार्य किया कई हजार भोजन पैकेट  वितरण कर गेहूं चावल के पैकेट चाय बिस्कुट नाश्ता पोहा कई हजार लोगों की खाने की व्यवस्था कर मानवता की मिसाल पेश की त्रृषी राघवेंद्र मानव कल्याण शिक्षा समिति के द्वारा कई पुलिस अधिकारियों तथा स्वास्थ्य विभाग के कई डॉक्टरों का  सम्मान ऋषि राघवेंद्र मानव कल्याण शिक्षा समिति ने किया

कोरोना काल में जब लोग अपने घरों में कैद थे तब आयुष विभाग की टीम कोरोना काल मैअपनी ड्यूटी पर मुस्तैद थी कोरो ना काल में जिस आयुष विभाग के त्रिकूट चूर्ण का  कोरोना से जंग जीतने में सबसे महत्वपूर्ण हथियार बना और कोरोना से हो रही जंग में फ्रंटलाइन वरीयर के रूप में मैदान मै उतरकर ड्यूटी कर रहे आयुष विभाग के चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ की बदौलत जो सरकार को सफलता मिली है ऐसे में जाहिर तौर पर यह किसी भी सम्मान के सबसे पहले हकदार है लेकिन इसका श्रेय आयुष विभाग को ना देकर चिकित्सा विभाग को दे डाला परंतु सम्मान देने के समय केवल आयुष  विभाग को दूध से मक्खी की तरह निकाल  दिया गया निश्चित रूप से सरकार का यह कृत्य आयुष और कर्मचारियों के लिए मनोबल गिराने वाला है

ऋषि राघवेंद्र मानव कल्याण शिक्षा समिति के अध्यक्ष संतोष जैन अंकित श्रीवास्तव गौरव सोनी रजनीश तिवारी महेश शुक्ला संगीता कोरी गजेंद्र सिंह इंद्रजीत कोष्टा शिवकुमार तिवारी तथा इस कार्य में संस्था के अन्य सदस्यों का भी सहयोग महत्वपूर्ण रहा