राशन दुकान से 9000 लीटर केरोसिन जप्त प्रशासन की कार्यवाही - Aaj Tak News

Breaking

आज तक 24x7 वेब न्यूज़ व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे औरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 9406763885 पर व्हाट्सएप्प करें....भारत के समस्‍त प्रदेशों में स्‍टेट ब्‍यूरों, संभाग ब्‍यूरों , जिला ब्‍यूरों, तहसील ब्‍यूरों और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

राशन दुकान से 9000 लीटर केरोसिन जप्त प्रशासन की कार्यवाही



जबलपुर से (संतोष जैन)

गढा के धनवंतरी नगर में राशन दुकान पर प्रशासन की टीम ने छापा मारकर करीब 9000 लीटर केरोसिन जप्त किया कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के पास सोमवार रात   सूचना मिली थी धनवंत्री नगर में केरोसिन का भारी अवैध स्टॉक जमा किया गया है जिस जगह की जानकारी मिली वहां ताला लगा हुआ था ऐसे में रात भर पुलिस का पहरा रहा सुबह दुकान खुलवाई  तो स्वीकृत मात्रा से अधिक केरोसिन मिला

 यह है मामला

 तहसीलदार अनूप श्रीवास्तव गढा पुलिस तथा धनवंतरी नगर पुलिस के साथ डायल हंड्रेड के साथ तहसीलदार अनूप श्रीवास्तव पूरे दलबल के साथ वहां पहुंचे तो वहां ताला लगा था डिप्टी कलेक्टर कलावती वियारे मंगलवार सुबह तहसीलदार अनूप श्रीवास्तव पुलिस अधिकारी खाद्य विभाग के अधिकारियों के साथ वहां पहुंची और जांच की जांच में सामने आया कि दुकान क्रमांक 33 16331 पूजा उपभोक्ता सहकारी संस्था की ओर से चलाई जाती है इसकी विक्रेता गुज वेदी और सह विक्रेता सहाबुद्दीन मंसूरी है अधिकारियों ने दुकान खुलवा कर जांच की तो 2400 लीटर की  स्वीकृत मात्रा की जगह 9000 लीटर केरोसिन का स्टाक मिला इसकी कीमत करीब ₹2लाख80000 रुपए है केरोसिन जप्त कर लिया गया गेहूं और चावल के स्टाक में भी गड़बड़ी मिली मंगलवार रात को केरोसिन को थोक डीलर के सुपुर्द कर दिया गया कार्रवाई में प्रभारी फूड कंट्रोलर सुधीर दुबे कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी संजीव अग्रवाल आदि मौजूद थे  केरोसिन को जप्त कराने के लिए रात में जब एसडीएम मनेंद्र सिंह को संतोष जैन पत्रकार के द्वारा फोन लगाया गया तो उन्होंने कहा रात का समय है फोन लगाने की क्या बनती है संतोष जैन पत्रकार ने कहा कि सर बड़ा मैटर है खबर है उन्होंने कहा कि ऐसी कोई खबर नहीं है फोन रखिए तब कहीं जाकर रात में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा को फोन लगाया गया उन्होंने तत्काल कार्रवाई का आश्वासन देकर टीम को निर्देश दिए तब जाकर यह कार्रवाई सुनिश्चित की गई